Current Affairs Hindi – May 5 2019

Current Affairs May 5, 2019 | Hindi Extension

आईआईटी कानपुर ने सीएससी ई-गवर्नेंस सर्विसेज इंडिया के साथ ‘उन्नत भारत अभियान’ को विस्तार करने के लिए सहयोग किया:

इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय, (सूचना प्रौद्योगिकी) सीएससी (कॉमन सर्विसेज सेंटर) के तहत एक विशेष प्रयोजन वाहन ई-गवर्नेंस सर्विसेज इंडिया लिमिटेड ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) कानपुर के साथ मिलकर ‘उन्नत भारत अभियान’ के लिए भागीदारी की है। ‘उन्नत भारत अभियान’ का नेतृत्व आईआईटी कानपुर से डॉ.रीता सिंह कर रही हैं।

प्रमुख बिंदु:

  • उन्नत भारत अभियान’ मानव संसाधन विकास मंत्रालय का कार्यक्रम है, जो ग्रामीण भारत में सतत विकास को बढ़ाने के लिए समाधान प्राप्त करने की दिशा में काम कर रहा है।
  • आईआईटी-कानपुर गांवों के विकास के लिए, इस नीति के तहत, सीएससी के साथ मिलकर काम करने के लिए यूपी (उत्तर प्रदेश) के 15 उच्च शिक्षा संस्थानों को एक साथ लाया है।
  • सीएससी के माध्यम से, वे ग्राम पंचायतों को गोद लेंगे और उनको को नागरिक केंद्रित सेवाए प्रदान करेंगे। आईआईटी कानपुर ने समग्र विकास के लिए 5 गांवों को गोद लिया है। गाँव कानपुर के बाहरी इलाके में स्थित हैं और उनके नाम इस प्रकार हैं: हृदयपुर, बैकुंठपुर, ईश्वरीगंज, प्रतापपुर हरि और सक्सुपुरवा।
  • शैक्षणिक संस्थान सीएससी चलाने वाले ग्रामीण स्तर के उद्यमियों (वीएलई) को प्रशिक्षण प्रदान करेंगे।
  • ये उद्यमी सौर ऊर्जा, स्वच्छता और आधुनिक तकनीकों के उपयोग से लैस होंगे।
  • सीएससी के साथ अग्रणी संस्थानों के साथ साथ आईआईटी-कानपुर का सहयोग डिजिटल इंडिया के सरकार के दृष्टिकोण को मजबूत करेगा।

एशियाई विकास बैंक (एडीबी) ने एशिया और प्रशांत क्षेत्र के लिए स्वस्थ महासागरों और सतत नीली अर्थव्यवस्थाओं के लिए 5 बिलियन डॉलर की कार्य योजना शुरू की। यह एडीबी के विकासशील सदस्य देशों के सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) को प्राप्त करने के लिए समर्थन करेगा, जिसमें एसडीजी 14: ‘पाने के नीचे जीवन’ शामिल है।
i.दुनिया भर में समुद्र में 88% से 95% प्लास्टिक का परिवहन करने वाली 10 नदियों में से 8 एशिया और प्रशांत क्षेत्र में हैं।
प्रमुख बिंदु:
i.एडीबी के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स, फिजी की 52 वीं वार्षिक बैठक में स्वस्थ महासागरों की कार्य योजना शुरू की गई।
ii.एडीबी के अध्यक्ष श्री टेकहिको नाकाओ हैं।
iii.स्वस्थ महासागरों की कार्य योजना वर्ष 2019 से 2024 तक समुद्र स्वास्थ्य और समुद्री अर्थव्यवस्था परियोजनाओं के लिए वित्तपोषण और तकनीकी सहायता का विस्तार करेगी।
iv.कार्य योजना जिन 4 क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करेगी, वे इस प्रकार हैं:
पर्यटन और मत्स्य पालन में समावेशी आजीविका और व्यापार के अवसर पैदा करना
-समुद्री पारिस्थितिक तंत्र और प्रमुख नदियों का संरक्षण
-प्लास्टिक, अपशिष्ट जल और कृषि अपवाह सहित समुद्री प्रदूषण के भूमि आधारित स्रोतों में कमी करना
बंदरगाह और तटीय बुनियादी ढांचे के विकास में स्थिरता में सुधार करना।
v.इस नीति के तहत, एडीबी ओशंस फाइनेंसिंग इनिशिएटिव (क्रेडिट रिस्क गारंटी और कैपिटल मार्केट ‘ब्लू बॉन्ड’ द्वारा किया जाएगा) भी लॉन्च करेगा, जो निजी क्षेत्र के लिए समुद्री स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए परियोजनाओं में निवेश करने के अवसरों को बनाने में मदद करेगा।
vi.आसियान (एसोसिएशन ऑफ साउथईस्ट एशियन नेशंस) इन्फ्रास्ट्रक्चर फ़ंड और कोरिया गणराज्य के साथ साझेदारी में ओसेन फाइनेंसिंग इनिशिएटिव को दक्षिण-पूर्व एशिया में संभाला जाएगा

एशियाई विकास बैंक (एडीबी) ने एशिया और प्रशांत क्षेत्र के लिए स्वस्थ महासागरों और सतत नीली अर्थव्यवस्थाओं के लिए 5 बिलियन डॉलर की कार्य योजना शुरू की। यह एडीबी के विकासशील सदस्य देशों के सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) को प्राप्त करने के लिए समर्थन करेगा, जिसमें एसडीजी 14: ‘पाने के नीचे जीवन’ शामिल है।
i.दुनिया भर में समुद्र में 88% से 95% प्लास्टिक का परिवहन करने वाली 10 नदियों में से 8 एशिया और प्रशांत क्षेत्र में हैं।
प्रमुख बिंदु:
i.एडीबी के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स, फिजी की 52 वीं वार्षिक बैठक में स्वस्थ महासागरों की कार्य योजना शुरू की गई।
ii.एडीबी के अध्यक्ष श्री टेकहिको नाकाओ हैं।
iii.स्वस्थ महासागरों की कार्य योजना वर्ष 2019 से 2024 तक समुद्र स्वास्थ्य और समुद्री अर्थव्यवस्था परियोजनाओं के लिए वित्तपोषण और तकनीकी सहायता का विस्तार करेगी।
iv.कार्य योजना जिन 4 क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करेगी, वे इस प्रकार हैं:
पर्यटन और मत्स्य पालन में समावेशी आजीविका और व्यापार के अवसर पैदा करना
-समुद्री पारिस्थितिक तंत्र और प्रमुख नदियों का संरक्षण
-प्लास्टिक, अपशिष्ट जल और कृषि अपवाह सहित समुद्री प्रदूषण के भूमि आधारित स्रोतों में कमी करना
बंदरगाह और तटीय बुनियादी ढांचे के विकास में स्थिरता में सुधार करना।
v.इस नीति के तहत, एडीबी ओशंस फाइनेंसिंग इनिशिएटिव (क्रेडिट रिस्क गारंटी और कैपिटल मार्केट ‘ब्लू बॉन्ड’ द्वारा किया जाएगा) भी लॉन्च करेगा, जो निजी क्षेत्र के लिए समुद्री स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए परियोजनाओं में निवेश करने के अवसरों को बनाने में मदद करेगा।
vi.आसियान (एसोसिएशन ऑफ साउथईस्ट एशियन नेशंस) इन्फ्रास्ट्रक्चर फ़ंड और कोरिया गणराज्य के साथ साझेदारी में ओसेन फाइनेंसिंग इनिशिएटिव को दक्षिण-पूर्व एशिया में संभाला जाएगा।

एडीबी (एशियाई विकास बैंक) ने अपनी 52 वीं वार्षिक बैठक में $ 5 बिलियन स्वस्थ महासागरों की कार्य योजना का शुभारंभ किया:

$5 Billion Healthy Oceans Action Planएशियाई विकास बैंक (एडीबी) ने एशिया और प्रशांत क्षेत्र के लिए स्वस्थ महासागरों और सतत नीली अर्थव्यवस्थाओं के लिए 5 बिलियन डॉलर की कार्य योजना शुरू की। यह एडीबी के विकासशील सदस्य देशों के सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) को प्राप्त करने के लिए समर्थन करेगा, जिसमें एसडीजी 14: ‘पाने के नीचे जीवन’ शामिल है।
i.दुनिया भर में समुद्र में 88% से 95% प्लास्टिक का परिवहन करने वाली 10 नदियों में से 8 एशिया और प्रशांत क्षेत्र में हैं।
प्रमुख बिंदु:
i.एडीबी के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स, फिजी की 52 वीं वार्षिक बैठक में स्वस्थ महासागरों की कार्य योजना शुरू की गई।
ii.एडीबी के अध्यक्ष श्री टेकहिको नाकाओ हैं।
iii.स्वस्थ महासागरों की कार्य योजना वर्ष 2019 से 2024 तक समुद्र स्वास्थ्य और समुद्री अर्थव्यवस्था परियोजनाओं के लिए वित्तपोषण और तकनीकी सहायता का विस्तार करेगी।
iv.कार्य योजना जिन 4 क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करेगी, वे इस प्रकार हैं:
पर्यटन और मत्स्य पालन में समावेशी आजीविका और व्यापार के अवसर पैदा करना
-समुद्री पारिस्थितिक तंत्र और प्रमुख नदियों का संरक्षण
-प्लास्टिक, अपशिष्ट जल और कृषि अपवाह सहित समुद्री प्रदूषण के भूमि आधारित स्रोतों में कमी करना
बंदरगाह और तटीय बुनियादी ढांचे के विकास में स्थिरता में सुधार करना।
v.इस नीति के तहत, एडीबी ओशंस फाइनेंसिंग इनिशिएटिव (क्रेडिट रिस्क गारंटी और कैपिटल मार्केट ‘ब्लू बॉन्ड’ द्वारा किया जाएगा) भी लॉन्च करेगा, जो निजी क्षेत्र के लिए समुद्री स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए परियोजनाओं में निवेश करने के अवसरों को बनाने में मदद करेगा।
vi.आसियान (एसोसिएशन ऑफ साउथईस्ट एशियन नेशंस) इन्फ्रास्ट्रक्चर फ़ंड और कोरिया गणराज्य के साथ साझेदारी में ओसेन फाइनेंसिंग इनिशिएटिव को दक्षिण-पूर्व एशिया में संभाला जाएगा।